Green tea benefits and its loss on daily consumption

myshayaris.com

Green tea has many good properties and easily available in the market and mostly it is used to reduce obesity but there are many harms as well as benefits of drinking green tea.so today I will explain here some harms and benefits of drinking green tea that one should always keep in mind before drinking it. Ingredients Catechins, Theobromine, Carotene, Fluoride, iron, magnesium, calcium, strontium, copper, nickel, Tannin, Theophylline, Fat, Saponins, Caffeine, Molybdenum, vitamin C, vitamins A, B1, B12, Phosphorus, Best Time To Drink Green Tea More in summer, less in winter Not as your early morning cup Two hours before…

Continue reading

दिल की धड़कन और मेरी सदा है तू Romantic Shayaris

myshayaris

दिल की धड़कन और मेरी सदा है तू,मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है तू,चाहा है तुझे चाहत से भी बढ़ कर,मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है तू।   धोखा ना देना कि तुझपे ऐतबार बहुत है,ये दिल तेरी चाहत का तलबगार बहुत है,तेरी सूरत ना दिखे तो दिखाई कुछ नहीं देता,हम क्या करें कि तुझसे हमें प्यार बहुत है। मुझको फिर वही सुहाना नजारा मिल गया,इन आँखों को दीदार तुम्हारा मिल गया,अब किसी और की तमन्ना क्यूँ मैं करूँ,जब मुझे तुम्हारी बाहों का सहारा मिल गया। छू गया जब कभी ख्याल तेरा,दिल मेरा देर तक धड़कता रहा,कल तेरा ज़िक्र…

Continue reading

Shairy nay kaha Mohabbat eik esse ghazal hai Jo har eik

Shairy nay kaha…….. Mohabbat eik esse ghazal hai ,, Jo har eik sunay walay kay dil may uttar te chali jate hai … Saaz nay kaha …….. Mohabbat eik essa geet hai .. Jo Dil may uttar jata hai .. Malee nay kaha…….. Mohabbat gulshan kay phool key woh dilkash khusboo hai… Jiss may sara gulshan mehak uttah hai… Ankhon nay kaha …….. Mohabbat ansoo ka samandar hai.. jo kisse kay intezar may khamoshi say behta hai… Dil nay kaha …….. Mohabbat kisse ko Khamoshi say chahay janay ka naam hai… kay aakhire waqt bhee Izhar na kiya jay… Naseeb…

Continue reading

समझा दो अपनी यादो को वो बिन बुलाये पास आया करती है

myshayaris

समझा दो अपनी यादो को, वो बिन बुलाये पास आया करती है, आप तो दूर रहकर सताते हो मगर, वो पास आकर रुलाया करती है !!       नज़र ने नज़र से मुलाक़ात कर ली, रहे दोनों खामोश पर बात करली, मोहब्बत की फिजा को जब खुश पाया, इन आंखों ने रो रो के बरसात कर ली !!         उलफत का अकसर यही दस्तूर होता है, जिसे चाहो वही दूर होता है. दिल टुट कर बिखरते हैं इस कदर, जैसे कोई काँच का खिलोना चूर चूर होता है       कागज़ पे हमने ज़िन्दगी लिख…

Continue reading