हुस्न परियो का और रूप चाँद का चुराया होगा खूबसूरत फूलो से

By | December 6, 2018

हुस्न परियो का और रूप चाँद का चुराया होगा
खूबसूरत फूलो से अपने होठो को सजाया होगा
यह जुल्फ जो बिखरे तो घटाओ को आ जाये पसीना
बड़ी फुर्सत से उस खुदा ने तुम को बनाया होगा

detroweb

 

 

 

आप को इस दिल में उतार लेने को जी चाहता है,

खूबसूरत से फूलो में डूब जाने को जी चाहता है,

आपका साथ पाकर हम भूल गए सब मैखाने,

क्योकि उन मैखानो में भी आपका ही चेहरा नज़र आता है….

detroweb

 

 

तेरे बिना टूट कर बिखर जायेंगे;
तुम मिल गए तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे;
तुम ना मिले तो जीते जी ही मर जायेंगे;
तुम्हें जो पा लिया तो मर कर भी जी जायेंगे।

detroweb

 

 

आँखों मे प्यास हुआ करती थी… दिल में तुफान उठा करते थे..।
लोग आते थे गज़ल सुनने को… हम तेरी बात किया करते थे..।
सच समझते थे सब सपनो को.. रात दिन घर में रहा करते थे..।
किसी विराने में तुझसे मिलकर… दिल में क्या फुल खिला करते थे..।
घर की दिवार सजाने की खातिर .. हम तेरा नाम लिखा करते थे..।
कल तुझ को देखकर याद आया… हम भी महोब्बत किया करते थे…।
हम भी महोब्बत किया करते थे…

 

detroweb

 

 

 

आप भुलाकर देखो, हम फिर भी याद आएंगे;
आपके चाहने वालों में;
आपको हम ही नज़र आएंगे;
आप पानी पी-पी के थक जाओगे;
पर हम हिचकी बनकर याद आएंगे!

detroweb

 

हँसना और हँसाना कोशिश है मेरी;
हर कोई खुश रहे, यह चाहत है मेरी;
भले ही मुझे कोई याद करे या ना करे;
लेकिन हर अपने को याद करना आदत है मेरी!

detroweb

 

 

हर पल कुछ सोचते रहने की आदत हो गयी है;
हर आहट पे चौंक जाने की आदत हो गयी है;
तेरे इश्क़ में ऐ बेवफा, हिज्र की रातों के संग;
हमको भी जागते रहने की आदत हो गयी है।

detroweb

 

 

जुल्फ देखी है या नजरों ने घटा देखी है,
लुट गया जिसने भी तेरी अदा देखी है,
अपने चेहरे को अब हमसे न छिपाना,
मुद्दतों बाद इस मरीज ने दवा देखी है !!

detroweb

 

 

नज़रे न होती तो नज़ारा न होता,

दुनिया मैं हसीनो का गुज़ारा न होता,

हमसे यह मत कहो की दिल लगाना छोड़ दे,

जा के खुदा से कहो हसीनो को बनाना छोड़ दे

detroweb

 

 

जब उसकी धुन में रहा करते थे ,

हम भी चुप चुप जिया करते थे

लोग आते थे गजल सुंनाने ,

हम उसकी बात किया करते थे

घर की दीवार सजाने के खातिर ,

हम उसका नाम लिखा करते थे!

कल उसको देख कर याद आया हमे ,

हम भी कभी मोहोब्बत किया करते थे ,

लोग मुझे देख कर उसका नाम लिया करते थे

detroweb



7 thoughts on “हुस्न परियो का और रूप चाँद का चुराया होगा खूबसूरत फूलो से

Leave a Reply