दूरियों की ना परवाह कीजिये दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये

By | April 28, 2019

Romantic shayaris

detroweb

आज फिर पल खूबसूरत है,
दिल में बस तेरी ही सूरत है,
कुछ भी कहे दुनिया हमें कोई गम नहीं,
दुनिया से ज्यादा मुझे तेरी जरूरत है।

 

detroweb

मुस्कान तेरे होठों से कही जाए न,
आंसू तेरी पलकों पे कही आए न,
पूरा हो तेरा हर खवाब,
और जो पूरा न हो वो खवाब कभी आए न !!
detroweb
ढलती शाम का खुला एहसास है ,
मेरे दिल में तेरी जगह कुछ खास है ,
तू नहीं है यहाँ मालूम है मुझे …
पर दिल ये कहता है तू यहीं मेरे पास है
detroweb
जाने कभी गुलाब लगती हे जाने कभी शबाब लगती हे
तेरी आखें ही हमें बहारों का ख्बाब लगती हे में पिए रहु या न पिए रहु,
लड़खड़ाकर ही चलता हु क्योकि तेरी गली कि हवा ही मुझे शराब लगती हे
detroweb
जब खामोश आँखो से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं
पता नही कब दिन और कब रात होती है……
detroweb
मुस्कान तेरे होठों से कही जाए न,
आंसू तेरी पलकों पे कही आए न,
पूरा हो तेरा हर खवाब,
और जो पूरा न हो वो खवाब कभी आए न !!
detroweb
आपकी आँखें उची हुई तो दुआ बन गई
नीची हुई तो हया बन गई
जो झुक कर उठी तो खता बन गई
और उठ कर झुकी तो अदा बन गई…
detroweb
दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये
detroweb
सपनों की दुनिया मे हम सोते चले गये,
होश मे थे फिर भी मदहोश होते चले गये..।।
जाने क्या बात थी उसके चेहरे मे
ना चाहते भी उसके होते चले गये..।।
detroweb
रिश्तों की यह दुनिया है निराली,
सब रिश्तों से प्यारी है दोस्ती तुम्हारी,
मंज़ूर है आँसू भी आखो में हमारी,
अगर आजाये मुस्कान होंठ पे तुम्हारी।



2 thoughts on “दूरियों की ना परवाह कीजिये दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये

  1. Raje

    दूरियों की ना परवाह कीजिये,
    दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
    कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
    बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *