सदीयो से जागी आँखो को एक बार सुलाने आ जाओ माना की तुमको

myshayaris

सदीयो से जागी आँखो को, एक बार सुलाने आ जाओ,
माना की तुमको प्यार नहीं, नफरत ही जताने आ जाऔ
जिस मोङ पे हमको छोङ गये, हम बैठे अब तक सोच रहे
क्या भुल हुई क्यो जुदा हुए, बस यह समझाने आ जाओ!

 

myshayaris

ना जाने क्या सोच कर लहरें साहिल से टकराती हैं;
और फिर समंदर में लौट जाती हैं;
समझ नहीं आता कि किनारों से बेवफाई करती हैं;
या फिर लौट कर समंदर से वफ़ा निभाती हैं।

 

 

myshayaris

वो पानी की लहरों पे क्या लिख रहा था;
खुदा जाने हरफ-ऐ-दुआ लिख रहा था;
महोब्बत में मिली थी नफरत उसे भी शायद;
इसलिए हर शख्स को शायद बेवफा लिख रहा था

 

 

myshayaris

 

तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती है,

एक पल की जुदाई मुद्दत सी लगती है,

पहले नही सोचा था अब सोचने लगे है हम,

जिंदगी के हर लम्हों में तेरी ज़रूरत सी लगती है

 

 

myshayaris

वफ़ा करने से मुकर गया है दिल;
अब प्यार करने से डर गया है दिल;
अब किसी सहारे की बात मत करना;
झूठे दिलासों से भर गया है अब यह दिल।

 

 

myshayaris

संदेह से देखना तेरी आदत है, पर मेरी यारी भी देख
खामियां मुझ में लाख सही, पर मेरी वफादारी भी देख
यूँ न कर मुझे अलग खुद से, मेरी लाचारी भी देख,
ले झुका तेरे कदमों में , तेरे आगे सब हारा भी देख..!!

 

myshayaris

दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये,
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिऐ

myshayaris

सपनों की दुनिया मे हम सोते चले गये,
होश मे थे फिर भी मदहोश होते चले गये..।।
जाने क्या बात थी उसके चेहरे मे
ना चाहते भी उसके होते चले गये..।।

myshayaris

रिश्तों की यह दुनिया है निराली,
सब रिश्तों से प्यारी है दोस्ती तुम्हारी,
मंज़ूर है आँसू भी आखो में हमारी,
अगर आजाये मुस्कान होंठ पे तुम्हारी।

 

myshayaris

प्यार की अनदेखी सूरत आप है,
मेरी जिंदगी की ज़रूरत आप है,
खूबसूरत तो फूल भी बहुत है,
मगर मेरे लिए फूल से भी खूबसूरत आप है.

One Comment:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.